समस हिंदी में आपका सुवागत है ...सोनू

Welcome to Sms Hindi

सभी भारतीयों से अनुरोध है कि वो अपने ब्लॉग पर "वन्दे मातरम्" अवश्य लिखें!

6.28.2012

ये प्यार है:.....नहीं

एक दिन जाना तो था मगर
ऐसे मेरा दिल तोड़कर तो नहीं
तुम्हारे बिना मैं जी लूँगी मगर
इन यादों से तुम जाते क्यूँ नहीं
**************** 
 
उन्हे ये शिकायत है हमसे की 
हम हर किसी को देख कर मुश्कूराते हैं
नासमझ हैं वो क्या जाने
हमे तो हर चेहरे मे वही नज़र आते हैं…
 **************
जीते थे कभी हम भी शान से
महेक उठी थी फ़िज़ा किसी के नाम से
पर गुज़रे हैं हम कुछ ऐसे मुकाम से
के नफ़रत सी हो गयी है मुहब्बत के नाम से…
***************
हर शाम से तेरा इज़हार किया करते है
हर ख्वाब मे तेरा दीदार किया करते है
दीवाने ही तो है हम तेरे
जो हर वक़्त तेरे मिलने का इंतज़ार किया करते है..
****************
तुम मुझे भूल कर तो देखो,
हर खुशी रुत जाएगी,
जब भी तन्हा बैतोगे,
खुद बा खुद मेर याद आएग…
****************
आपकी मुस्कान हमारी कमज़ोरी है,
कह ना पाना हमारी मजबूरी है,
आप क्यों नहीं समझते इस खामोशी को,
क्या खामोशी को ज़ुबान देना ज़रूरी है?
**************************
 


7 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत दिनों बाद ब्‍लॉग पर वापसी हुई आपकी।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सोनु भाई आप का विशेष आभार जो मुझे जन्मदिन पर हर बार एक विशेष गिफ्ट देते है उसके के लिए विशेष सधन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. लेकिन इस बार अपना जन्मदिन नही मनाउगा क्याकि हम सबके प्रिय महान कलाकार, महान इंसान, महान भक्त आदरणीय श्री दारा सिंह रन्धावाजी हमारे बीच में अब भौतिक रूप से नहीं रहे! उनको मेरी और पुरे राजपुरोहित समाज और सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया जोधपुर की और से विनम्र श्रद्धांजलि ..
    आप अपनी विनम्र श्रद्धांजलि ...... यहाँ दे सकते है! http://sawaisinghrajprohit.blogspot.in/2012/07/blog-post_12.html

    उत्तर देंहटाएं
  4. बढ़िया प्रस्तुति..सोनु भाई.

    उत्तर देंहटाएं
  5. शुभकामनायें-

    जन्म दिवस की -

    उत्तर देंहटाएं

लिखिए अपनी भाषा में



Type in
Title :
Body

आजा ओ नचलो ....